NUMBER ONE NEWS PORTAL

NUMBER ONE NEWS PORTAL

मेरा प्रयास, आप का विश्वास

Post Top Ad

Comments

जानिए कब है आपके यहां नामांकन करने की अंतिम तिथि, कब पड़ेगे वोट

January 30, 2022


गाजीपुर।
इस बार उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव सात चरणों में संपन्न होंगे। इसके लिए चुनाव आयोग ने पूरे प्रदेश को साथ चरणों में बांट दिया है। सबसे अंतिम चरण में चुनाव पूर्वांचल के जिलों में संपन्न कराए जाएंगे। इसके​ लिए आयोग की तरफ से तैयारियां शुरू हो गई हैं। 

  सातवें चरण में पूर्वांचल के ​वे जिले शामिल हैं जो बिहार की सीमा से सटे हैं। गाजीपुर जिले की सभी सीटों पर सातवें चरण में चुनाव संपन्न होेंगे। यहां की सीटों पर नामांकन की शुरुआत दस फरवरी को होगी। 17 फरवरी तक प्रत्याशी नामांकन कर सकत हैं। 18 तारीख को नामांकन पत्रों की जांच चुनाव आयोग की तरफ से की जाएगी। 21 फरवरी तक प्रत्याशियों को नाम वापसी के लिए समय मिलेगा। इसके बाद कोई भी प्र​त्याशी नाम वापस नहीं ले सकता है। सातवें चरण में चुनाव सात मार्च को होंगे। यहां के चुनाव के बाद दस मार्च को ही पूरे प्रदेश में एक साथ मतगणना होगी। सातवें चरण के प्र​त्याशियों को चुनाव के बाद ज्यादा इंतजार परिणाम के लिए नहीं करना पड़ेगा। सातवें चरण की अधिकतर सीटों पर अभी प्र​त्याशियों की घोषणा पार्टियों की तरफ से नहीं की गई है। सभी प्रत्याशी अपनी सीट पक्की करने के लिए जुगत लगाए हुए हैं। सीट पक्की होने के बाद ही प्रचार में तेजी दिखाने की तैयारी में हैं। 

Read More

प्याज की खेती का हब बना करइल, जाने कैसे किसान हो रहे मालामाल

January 30, 2022

गाजीपुर। पहले करइल केवल मसूर, मटर, चना और दलहनी फसलों के लिए मशहूर था। लेकिन अब इसकी पहचान प्याज की खेती के लिए होती जा रही है। अगर कहा जाए तो ये क्षेत्र प्याज के लिए नासिक के बाद देश का दूसरा हब बनता जा रहा है। यहां किसान एक तो इसकी अच्छी उपज से हो रही कमाई और दूसरा कारण समय से दलहनी फसलों की बुआई नहीं हो पाने से प्याज की खेती की ओर ज्यादा झुकाव कर रहे है।   

इस समय करइल का हर किसान प्याज की खेती को फायदेमंद बता रहा है। क्षेत्र के कई किसानों ने इसकी रोपाई कर भी दी है, वहीं कई गांवों में इस समय प्याज की रोपाई तेजी से चल रही है। किसानों का मानना है कि जितनी जल्दी इसकी फसल तैयार हो जाएगी, उतनी ही अच्छी इसकी कीमत मिलेगी। इसलिए सभी किसान पहले ही इसका बीज तैयार कर रोपाई शुरू कर देते हैं। करइल के अधिकतर गांवों में प्याज की रोपाई हो गई है। 

खूब होती है पैदावार

क्षेत्र के किसानों का मानना है कि यहां की मिटृटी में अगर ध्यानपूर्वक बढ़िया से प्याज की खेती की जाए तो इसका उत्पादन बहुत ही बढ़िया होता है। इससे किसानों को अन्य फसलों की तुलना में ज्यादा मुनाफा होता है। कई किसान प्याज की खेती करके मालामाल हो चुके हैं। आगे भी इसकी खेती को और बढ़ाते जा रहे है।

पछुवा हवाओं से बढ़ी गलन, जाने कब तक रहेगी ठंड

बारिश से होता है नुकसान

किसानों का मानना है कि अगर खेत में  प्याज तैयार हो चुका है और बारिश हो जाए तो पूरी फसल बर्बाद हो जाती है। इसलिए यह खेती कभी कभी बहुत नुकसान भी कर देती है। इसलिए हमेशा सोच समझकर इसकी खेती करनी चाहिए। 

Read More

80 फीसदी कर्मचारी चाहते हैं Work From Home

January 29, 2022

वाराणसी। घर से काम करते करते लोग अब इतना आदि हो चुके है कि अब कार्यालय जाना ही नहीं चाहते हैं। उनको  अब कार्यालय से ज्यादा अच्छा घर पर ही लगने लगा है। इससे कंपनी के मालिक भी परेशान हैं। इसका कंपनी के कामकाज पर पर भी प्रभाव पड़ रहा है। 

   Work From Home से लोगों को कम तनाव के बीच काम करना पड़ रहा है। इसका सबसे बड़ा कारण है कि लोग बच्चों और परिवार के बीच रहकर काम कर रहे है। एक सर्वेंक्षण के अनुसार 82 फीसदी लोग अब कार्यालय के बजाय घर से ही काम करना चाहते हैं। वहीं दूसरे सर्वेक्षण में 22 से 25 फीसदी कंपनी वाले भी इसको सही मान रहे हैं। इससे उनको कार्यालय में खर्च होने वाले संसाधनों की बचत के साथ ही कोरोना से बचाव भी कारण मान रहे है। Work From Home के कारण आफिस की बिजली के साथ—साथ कई तरह की बचत कंपनी को हो रही है। वहीं कर्मचारी को भी आने—जाने की परेशानी के साथ ही पेट्रोल—डीजल भी नहीं खर्च करना पड़ रहा है। 

कम पैसे में मिल रहे कर्मचारी

एचआर मैनेजर का मानना है कि Work From Home के लिए कम पैसे में कर्मचारी और अधिकारी कंपनी को मिल जा रहे हैं वहीं आफिस के लिए उन्हीं कर्मियों पर अधिक पैसे खर्चने पड़ रहे हैं। इससे कंपनी भी Work From Home को तरजीह दे रही है। 

Read More

जानिये अचानक क्यों बढ़ी है ठंड, कब तक रहेगी ठंड

January 29, 2022

गाजीपुर। इन दिनों पूरे पूर्वांचल में तेछ पछुवा हवाएं चलने से अचानक गलन बढ़ गई है। मौसम विभाग के अनुसार अभी तीन दिनों तक ऐसे ही मौसम रहने की संभावना है। लगातार पारा गिरने से लोग घरों में दुबके रह रहे हैं। हालांकि दिन में धूप अच्छी हो रही है लेकिन पहाड़ों से आ रही तेज पछुवा हवाओं के आगे धूप बेअसर रही है। 

   इस समय पहाड़ों पर खूब बर्फबारी हो रही है। इसका असर मैदानी इलाकों में भी पड़ रहा है। उधर से आने वाली पछुवा हवाएं पूर्वांचल में गलन को बढ़ा रही है। इस समय पूर्वांचल के सभी जिले गलन और शीतलहर की चपेट में हैं। इससे लोगों के साथ—साथ पशुओं को भी बहुत परेशानी हो रही है। अधिकांश पशु ठंड की वजह से मर रहे है। 

मौसम विभाग के अनुसार अभी ऐसा ही मौसम तीन से पांच दिनों तक बने रहने की संभावना है। इससे दलहनी फसलों को तो लाभ होगा, लेकिन सब्जी की खेती को नुकसान हो रहा है। इससे ​सब्जियों के भाव में तेजी आने की संभावना है। 

Read More

अब जल्द पटरेगी पर लौटेगी दो महीने से बंद ट्रेनें

January 29, 2022
भारतीय रेलवे की ओर से कोहरे और ठंड के कारण बहुत सारी ट्रेनें दिसंबर महीने में ही दो महीने के​ लिए बंद कर दी गई थीं। अब ये ट्रेनें एक बार फिर से पटरी पर लौटने वाली हैं। फरवरी महीने में इन ट्रेनों को रेलवे की ओर से चलाने की तैयारी की जा रही है। इसके लिए रेलवे के अधिकारियों ने कवायद शुरू कर दी है। 

    रेलवे की ओर से हर साल जाड़े का मौसम शुरू होते ही कई ट्रेनों को बंद कर दिया जाता है। एक तो कोहरे की वजह से ट्रेनें देरी से चलने लगती है तो वहीं दूसरी ओर यात्रियों की संख्या में भी कमी आ जाती हैं। इन ट्रेनों को दोबारा पटरी पर रेलवे की ओर से फरवरी महीने में लाया जाता है। अब एक बार फिर से रेल अधिकारियों की ओर से कवायद शुरू हो गई है। जल्द ही पिछले दो महीने से बंद ट्रेनें पटरी पर दौड़ने लगेगी। 

Read More

बेटा ने मां को जमीन पर पटक कर मार डाला

May 10, 2021

शिकोहाबाद-डीवीएनए। नसीरपुर थाना क्षेत्र के गांव हरगनपुर में एक कलयुगी बेटे ने अपनी मां को मामूली विवाद में जमीन पर पटक कर मार डाला। घटना के बाद युवक अपनी पत्नी और बच्चों के साथ फरार हो गया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए फिरोजाबाद मेडिकल कॉलेज भेज दिया।
मृतका के बड़े बेटे की तहरीर पर पुलिस ने पति-पत्नी के खिलाफ गैर इरादतन हत्या का मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी। चंद्रवती (70) पत्नी स्व. वीर सहाय अपने परिवार के साथ रह रही थी। सोमवार सुबह किसी बात को लेकर तीसरे नंबर के बेटे की बहू से उसका विवाद हो गया। आरोप है कि इसी दौरान बेटे ने बहू का पक्ष लेते हुए मां को जमीन पर पटक दिया, जिससे उसके सिर में गंभीर चोट आने से उसकी मौके पर ही मौत हो गई। वृद्धा की मौत के बाद आरोपी पुत्र अपनी पत्नी के साथ फरार हो गया। मृतका के अन्य बेटों ने घटना की जानकारी थाना पुलिस को दी। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए फिरोजाबाद मेडिकल कॉलेज भेज दिया।
इस संबध में मृतका के बडे बेटे श्याम सुंदर ने अपने छोटे भाई जगत सिंह और उसकी पत्नी वीनेश के खिलाफ गैर इरादतन हत्या की तहरीर दी। सीओ सिरसागंज देवेंद्र सिंह का कहना है कि मृतका के बड़े बेटे की तहरीर पर आरोपी जगत सिंह और उसकी वहू वीनेश के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है।

Digital Varta News Agency
Read More

प्रधान प्रत्याशी ने वोट न देने पर रोक दिया किसान का पानी

May 10, 2021

मथुरा-डीवीएनए। गांव की सरकार के गठन के बाद हार जीत को लेकर चुनावी रंजिशें बढने लगी हैं। सुरीर क्षेत्र के गांव हरनौल में पिता पुत्र ने प्रधान में हार का ठीकरा फोडते हुए एक ग्रामीण को मारपीट कर घायल कर दिया। आरोप है कि ग्राम प्रधान के चुनाव में हार से क्षुब्ध आरोपी अब अपने खेत से होकर ग्रामीण को पानी नहीं ले जाने दे रहे हैं।
गांव हरनोल में रामकिशोर प्रधानी का चुनाव लडे थे। वह चुनाव हार गये। इसके बाद उन्होंने अपने खेत से होकर रन सिंह को पानी की पाइल ले जाने से मना कर दिया। इस की शिकायत रन सिंह ने पुलिस से की। इस शिकायत को भी चुनाव की राजनीति से प्रेरित बताया जा रहा है। रामकिशोर का कहना है कि रन सिंह उनके खेतों से होकर पानी के पाइल ले जाता है। नहर पर रामकिशोर के खेत पर ही पानी खींचने के लिए रन सिंह ने इंजन लगाया हुआ है। उसे भी रामकिशोर ने हटावा दिया। रन सिंह का आरोप है कि रामकिशोर और उसके बेटे ने मिलकर मारपीट की ओर जाने से मारने की धमकी दी है। रन सिंह ने पिता पुत्र के खिलाफ सुरीर कोतवाली में तहरीर दी है। घायल को पुलिस ने मेडिकल के लिए भेज दिया।

Digital Varta News Agency
Read More

एक-एक व्यक्ति का जीवन अमूल्य, उसे हर हाल में बचाना है: सीएम योगी

May 10, 2021

गोरखपुर-डीवीएनए।प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जनपद में चरगावा की सीएचसी पर 18 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के लोगों के कोविड टीकाकरण के कार्य का निरीक्षण कर टीकाकरण की स्थिति की जानकारी ली। इसके उपरान्त मुख्यमंत्री ने बी.आर.डी. मेडिकल कालेज में 45 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के लोगो का कोविड टीकाकरण के कार्य का निरीक्षण किया।
इसके पश्चात मुख्यमंत्री ने बी.आर.डी. मेडिकल कालेज में कोविड-19 प्रबंधन से संबंधित गोरखपुरध्बस्ती मण्डल की समीक्षा बैठक करते हुए निर्देश दिये कि कोरोना संक्रमण को प्रत्येक दशा में नियंत्रित करने के लिए निगरानी समितियांध्आर.आर.टी. की संख्या बढ़ाई जाये। उन्होंने कहा कि आक्सीजन की आडिट हर हाल में करायी जाये तथा यह सुनिश्चित हो कि इसका वेस्टेज न होने पाये। हास्पिटलों में आक्सीजन आडिट कराया जाना नितान्त आवश्यक है, कही भी आक्सीजन की काला बाजारी नही होनी चाहिए इसकी जांच की जाये और पकड़े जाने पर दोषी के विरूद्ध कड़ी कार्यवाही सुनिश्चित की जाये।
मुख्यमंत्री ने गोरखपुर के अलावा दोनों मण्डलों के अन्य जनपदों के जिलाधिकारियों से वर्चुअल बैठक कर जनपदवार कोविड-19 प्रबंधन की विस्तृत जानकारी प्राप्त करते हुए निर्देश दिये कि निगरानी समितियों की संख्या 3 से 4 गुना तक बढ़ाई जाये। उन्होंने कहा कि सरकार संसाधन उपलब्ध करा रही है। मेडिकल किट निगरानी समितियों के माध्यम से विस्तरित कराया जाये तथा उसका सत्यापन भी कराया जाये। मेडिकल किट की पर्याप्त दवा हर जनपद में उपलब्ध करायी गयी है। उन्होंने कहा कि एम्बुलेंस 108 का 75 प्रतिशत प्रयोग कोविड-19 में किया जाये और आर.आर.टी. को वाहन उपलब्ध कराये जाये। कोविड प्रबंधन कार्य में लापरवाही क्षम्य नही होगी, शत प्रतिशत कन्टेक्ट टेऊसिंग करायी जाये। उन्होंने कहा कि यदि समय पर मरीज को सुविधा दी जाये तो निश्चित वह आरोग्यता को प्राप्त करेगा। उन्होंने कहा कि रोग को छिपाया न जाये, अगर बीमारी है तो उसका उपचार आवश्यक है।
मुख्यमंत्री ने आगे कहा कि एक-एक व्यक्ति का जीवन अमूल्य है और उसे हर हाल में बचाना है, लक्षणयुक्तध्संदिग्ध को तत्काल टेस्टिंग करते हुए रिपोर्ट पाजीटिव आने पर शीघ्र मेडिकल किट उसे उपलब्ध करा दिया जाये। उन्होंने कहा कि यदि कार्य प्रबंधन टीम भावना से किया जाये तो निश्चित रूप से शत प्रतिशत सफलता मिलेगी। उन्होंने कोरोना कफर््यु का कड़ाई से पालन कराया जाये और प्राइवेट अस्पतालोंध्एम्बुलेन्स का रेट निर्धारित किया जाये यदि कही इनके द्वारा मनमानी रेट लिया जाता है तो उनके विरूद्ध कड़ी कार्यवाही सुनिश्चित की जाये।
मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविड अस्पतालों में सीसीटीवी कैमरे लगाये जाये, हर जनपद में प्रतिदिन 24 घंटे के अन्दर पाजीटिव, रिकवरी, एक्टिव केस आदि की समीक्षा की जाये और होम आइसुलेशन के कोविड मरीजों के साथ संवाद स्थापित किये जाये और विधानसभावार होम आइसुलेट मरीजों की सूचीध्मोबाइल नम्बर सांसद, विधायक को भी उपलब्ध कराये जाये ताकि वे उनसे संवाद स्थापित कर सकें। उन्होंने कहा कि हर कोविड हास्पिटल में मरीजों के संबंध में जानकारी उनके परिजनों की जरूर दी जाये। मुख्यमंत्री ने कहा कि खाद्यान्न वितरण कार्य की निगरानी हेतु एक नोडल अधिकारी नामित करें, गेहूं क्रय केन्द्रों को सोशल डिस्टेंसिंगध्कोविड प्रोटोकाल के तहत के साथ संचालित किया जाये तथा गोआश्रय स्थल पर चारे आदि की व्यवस्था हो।
मुख्यमंत्री ने स्वच्छता, सेनेटाइजेशन एवं फागिंग कार्य को एक अभियान के रूप में संचालित करने तथा इस कार्य हेतु नोडल अधिकारी नामित करने के निर्देश देते हुए कहा कि यह अभियान कोविड के साथ ही बरसात में इसेंफलाइटिस से बचाव में सहायक सिद्ध होगा। उन्होंने कहा कि कन्टेनमेन्ट जोन मे सख्ती की जाये केवल मेडिकल, स्वच्छता, सेनेटाइजेशन, फागिंग, डोर स्टेप डिलेवरी की अनुमति होगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि सावधानीध्सतर्कता कोविड से बचाव का सर्वोत्तम उपाय है। उन्होंने बेड की संख्या बढ़ाने तथा शासन के नियमों का शत प्रतिशत अनुपालन करने और पीकू को क्रियाशील रखने के निर्देश दिये।मुख्यमंत्री ने कहा कि शासन स्तर पर आक्सीजन की उपलब्धता, रेडमिसिविर इंजेक्शन, होम आइसुलेशन, स्वच्छता, सेनेटाइजेशन, फागिंग आदि कार्यों की व्यवस्थाध्निगरानी संबंधी समितियां गठित की गयी है। इसी प्रकार जनपद स्तर पर भी समिति गठित कर उनके कार्यध्दायित्व निर्धारित किय जाये। मुख्यमंत्री ने बताया कि 30 अप्रैल तक प्रदेश में 3 लाख 10 हजार एक्टिव केस थे और आज 10 मई को 2 लाख 25 हजार एक्टिव केस है अर्थात 85 हजार एक्टिव केस कम हुआ है। इस अवसर पर मण्डलायुक्त जयन्त नार्लिकर ने गोरखपुर मण्डल में कोविड प्रबंधन के संबंध में विस्तृत जानकारी देते हुए बताया कि टेस्टिंग, कान्टेक्ट टेऊसिंग, सेनेटाइजेशन, स्वच्छता, वैक्सीनेशन आदि कार्यों को तेजी से कराया जा रहा है। उन्होंने बताया कि मण्डल में कुल 63042 एन्टीजेन टेस्ट, 54633 आर.टी.पी.सी.आर सैम्पुलिंग करायी गयी है। इसके अतिरिक्त मण्डल में कुल 4856 क्रियाशील निगरानी समितियां है जिसमें ग्रामीण क्षेत्र 4368 तथा शहरी क्षेत्र में 488 है। कोविड प्रबंधन हेतु मण्डल में कुल 126 एम्बुलेन्स का प्रयोग किया जा रहा है। कोविड टीकाकरण के संबंध में जानकारी देते हुए आयुक्त ने बताया कि मण्डल में कुल 719118 प्रथम डोज तथा 175442 द्वितीय डोज कवरेज किया गया है। मण्डलायुक्त ने बताया मण्डल में लिक्विड मेडिकल आक्सीजन की आपूर्तिध्आवश्यकता, उपयुक्त मानव संपदा की कमी, मण्डल में एल-2ध्एल-3 लेवल के निजी चिकित्सालयों की कमी तथा एल-2 फैसलिटी के चिकित्सकों एवं अन्य कार्मिकों का आ.सी.यू. प्रबंधन में सतत टेऊनिंग की आवश्यकता है। इसी प्रकार मण्डलायुक्त बस्ती ने भी अपने मण्डल से संबंधित कोविड-19 प्रबंधन के संबंध में जनपदवार विस्तृत जानकारी दी।
इस अवसर पर जिलाधिकारी के0 विजयेन्द्र पाण्डियन ने जनपद में पाजीटिव रेट, आर.आर.टी., निगरानी समितियां, होम आइसुलेशन, आईसीसीसी में टेलीफोन संख्या, एम्बुलेंस आदि की विस्तृत जानकारी देते हुए बताया कि जनपद में कुल 58957 सेम्पलिंग, कोविड प्रबंधन हेतु कुल 64 एम्बुलेंस का प्रयोग किया जा रहा है। जनपद में कोविड टीकाकरण प्रथम डोज 273632 तथा द्वितीय डोज 65420 दिया जा चुका है।
इसके पश्चात मुख्यमंत्री ने एम्स का निरीक्षण कर वहां पर बोइंग कंपनी के सहयोग से 200 बेड के कोविड वार्ड के निर्माण के बारे में जानकारी प्राप्त की। उन्होंने एम्स के अधिकारियों को निर्देश दिये कि जिला प्रशासन के सहयोग से तत्काल 200 बेड का वार्ड आरम्भ किया जाये साथ ही एम्स के तृतीय तल के कार्य को भी तेजी से पूर्ण किया जाये जिससे बेडों की सुंख्या में और वृद्धि की जा सके। उन्होंने कहा कि एम्स सेवाभाव के साथ कार्य करें। अस्पताल के संचालन में किसी प्रकार की कमी नही आने दी जायेगी।
इस अवसर पर सदर सांसद रविकिशन, सांसद बासगांव कमलेश पासवान, राज्यसभा सांसद जयप्रकाश निषाद, विधायक विपिन सिंह, संगीता यादव, महेन्द्रपाल सिंह, संत प्रसाद, शीतल पाण्डेय, क्षेत्रीय अध्यक्ष धर्मेन्द्र सिंह सहित मण्डलायुक्त जयंन्त नार्लिकर, जिलाधिकारी के0 विजयेन्द्र पाण्डियन एवं अन्य अधिकारी गण उपस्थित रहे।

Digital Varta News Agency
Read More

राजस्थान से लौटी गर्भवती की मौत, पीटकर हत्या का आरोप

May 10, 2021

बांदा-डीवीएनए। राजस्थान से लौटी गर्भवती की अस्पताल ले जाते समय मौत हो गई। पिता ने घरेलू कलह में पीटकर हत्या करने का ससुरालीजनों के विरुद्ध आरोप लगाया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।
शहर कोतवाली क्षेत्र के ग्राम कुरौली निवासी प्रवासी बुद्धविलास की 30 वर्षीय गर्भवती पत्नी सीमा अपने पति, भाइयों व पिता नत्थू रैदास ग्राम मकरी के साथ राजस्थान के नेहाड़ा कस्बे में रहकर भट्ठे में ईंट पाथती थी। प्रसव का समय नजदीक होने से पिता ने भाड़े की बोलेरो से 6 मई को कुरौली भेजा था। रविवार रात गर्भवती की मौत हो गई। पति ने बताया कि वह बुखार व पीलिया से पीड़ित थी। इससे उपचार चल रहा था। घर में हालत बिगड़ने पर वह जिला अस्पताल ले जा रहे थे। रास्ते में उसने दम तोड़ दिया है। जबकि पिता नत्थू ने पुलिस को बताया कि पति समेत ससुरालीजन घरेलू कलह के चलते अक्सर पीटकर प्रताड़ित करते थे।
आरोप लगाया कि घटना के एक दिन पहले शनिवार को भी ससुरालीजनों ने उसे पीटा था। इसमें बेटी ने अपनी मां सावित्री को फोन से पीटने की बात बताई थी। कलह के चलते ससुरालीजनों ने पीटकर उसकी हत्या कर दी है। उसकी दो वर्ष की बेटी रेनुका की कुछ समय पहले मौत हो गई थी। दस दिन बाद दोबारा प्रसव होने का चिकित्सक ने समय दिया था। फिलहाल अब उसके कोई संतान नहीं है। जून वर्ष 2014 में शादी हुई थी। कोतवाली निरीक्षक जयश्याम शुक्ल ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट से मौत की वजह स्पष्ट हो सकेगी।
संवाद विनोद मिश्रा

Digital Varta News Agency
Read More

सीएमओ की सलाह: हरि भजन गावो, कोरोना दूर भगाओ

May 10, 2021

बांदा-डीवीएनए। होम आइसोलेशन मेंरह रहे मरीजों को मुख्यचिकित्सा अधिकारी नें सलाह दी है कि संक्रमण से ठीक होने के लिये ष्दाल-रोटी खाओ हरी के गुण गावो ष्नकारात्मक ऊर्जा दूर भगाओ। जल्दी स्वस्थ हो जाओ। आश्चर्य भी है कि होमआइलोशन में रहकर कोरोना से जंग लड़ रहे मरीज तेजी से ठीक हो रहे हैं। 7511 मरीज होम आइसोलेशन में रहकर इलाज कराया। इनमें 6311 मरीज पूरी तरह से स्वस्थ हो चुके हैं। वर्तमान में करीब 1200 मरीज होम आइसोलेशन में रहकर इलाज करा रहे हैं। 1786 को तबियत बिगडने पर कोविड अस्पतालों में भर्ती कराया जा चुका है।
कोरोना संक्रमण जिस तेजी से फैल रहा है उससे अधिक तेजी से लोग कोरोना को मात देकर स्वस्थ भी हो रहे हैं। जिन लोगों में कम लक्षण हैं, उन्होंने अस्पताल के बजाय होम आइसोलेशन को चुना ओर उनका फैसला सही साबित हुआ। स्वास्थ्य विभाग के आकड़ों के मुताबिक गुरुवार तक जनपद में 9417 मरीज मिल चुके हैं। इनमें 7779 मरीज पूरी तरह स्वस्थ हो गए हैं। कोविड अस्पतालों में भर्ती होकर 1468 ठीक हुए हैं। जबकि घर पर इलाज ले रहे 6311 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं। इस तरह करीब 80 प्रतिशत मरीज होम आइसोलेशन में कोरोना को मात दे चुके हैं। गुरुवार को 318 मरीज अस्पताल, 1200 मरीज घर पर उपचाराधीन हैं। 1518 मरीज एक्टिव हैं।
सीएमओ डॉ. एनडी शर्मा ने कहा कि अस्पतालों में भर्ती होने पर मनोवैज्ञानिक दबाव पड़ता है। कई बीमार लोगों में यह ज्यादा नकारात्मक भाव पैदा करता है। जिससे उनके स्वस्थ होने में प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है। घर में आइसोलेशन में रहने पर उन्हें इस तनाव से मुक्ति मिल जाती है।
किताब पढ़ें, गाने और भजन सुनें
सीएमओ डॉ. एनडी शर्मा ने बताया कि होम आइसोलेशन के दौरान दवा के साथ इन बातों का भी विशेष ख्याल रखें। सोशल मीडिया पर चलने वाली हर निगेटिव सूचनाओं से दूर रहें। किताब पढ़ें, गाने और भजन सुने। भोजन करें, खुद को व्यस्त रखें। पसंद के काम किए। रोजाना नियमित व्यायाम और योग करें। घबराएं नहीं, बल्कि धैर्य रखें। डॉक्टर के संपर्क में रहें और कोरोना प्रोटोकाल का पालन करें।

Digital Varta News Agency
Read More

Post Top Ad

loading...