पाठा में तीन किमी सुलग रहे जंगल, जीव जंतु फंसे - NUMBER ONE NEWS PORTAL

NUMBER ONE NEWS PORTAL

मेरा प्रयास, आप का विश्वास

Comments

पाठा में तीन किमी सुलग रहे जंगल, जीव जंतु फंसे

बांदा डीवीएनए। गर्मी की दस्तक के साथ ही चित्रकूट मण्डल के पाठा के जंगल सुलगने लगे हैं। रानीपुर वन्यजीव विहार के जंगल में करीब तीन किलोमीटर में आग फैली है, जिसमें जीव जंतुओं के फंसे होने की संभावना है। सेंचुरी की कई टीमें फायर टैंकर के साथ आग में काबू पाने का प्रयास कर रही है। यह आग गुरुवार की शाम से धधक रही है। रात में लोगों ने तेज लपटे उठते हुई देखा।
रानीपुर वन्य जीव विहार के मानिकपुर रेंज के रानीपुर , गिहुरहा व निही चरैया व मारकुंडी रेंज के कल्याणपुर वीट मे आग सुलग रही है। धूं-धूंकर जल रहे जंगल में वन संपदा को काफी नुकसान हुआ है। साथ ही कई जीव जंतुओं के भी मरने की संभावना है। वैसे वन्यजीव विहार के अधिकारी इस बात से इनकार कर रहे हैं। सेंचुरी के रेंजर त्रिवेणी प्रसाद अपने टीम व ग्रामीणो के सहयोग से आग पर काबू पाने मे जुटे है ।
रेंजर ने बताया कि जंगल में सूखे पत्तों में जलती हुई बीड़ी फेंकने से आग भड़की है। गिदुरहा जंगल में गुरुवार की दोपहर में आग लगी थी जिसको बुझा दिया गया था लेकिन रात में फिर आग भड़क गई। जो धीरे-धीरे कई किलोमीटर में फैल गई है। कल्याणपुर बीट में आग सीमा से सटे मध्य प्रदेश के जंगलों से पहुंची है। आग को कटाने का प्रयास किया जा रहा है। अभी तक कोई खास नुकसान नहीं हुआ है। जमीन में पड़े सिर्फ खर पतवार व पत्ते आदि जले हैं। न ही किसी जानवर के मौत की खबर है। आग को देखकर पहले ही वन्यजीव भाग जाते हैं।
रानीपुर वन्य जीव विहार के प्रतिपालक जीडी मिश्रा मारकुंडी रेंज में छह व मानिकपुर रेंज की 11 बीटों में आग के नियंत्रण के लिए फायर लाइन (खरपतवार हटाना) बनाने का काम किया जा रहा है। हर वर्ष जंगलों में आग लग जाने से जीव जंतु दहशत में रहते है। ग्रामीणों को हिदायत दी गई है कि गर्मी को देखते हुए बीडी , सिगरेट , माचिस लेकर जंगल में न जाए । अगर कोई मिलता है तो कार्यवाही की जाएगी।
संवाद विनोद मिश्रा

Digital Varta News Agency

Post Top Ad

loading...