रस्मे चिरागा के साथ तीन दिवसीय उर्स बना सौहार्द की मिसाल - NUMBER ONE NEWS PORTAL

NUMBER ONE NEWS PORTAL

मेरा प्रयास, आप का विश्वास

Comments

रस्मे चिरागा के साथ तीन दिवसीय उर्स बना सौहार्द की मिसाल

बांदा। (डीवीएनए) शाह वारसी का तीन दिवसीय उर्स रस्मे चिरागां के साथ संपन्न हो गया। हिदू-मुस्लिम समुदाय के सैकड़ों अकीदतमंदों ने चादर चढ़ाई। रात में खानकाही कव्वाली की महफिल सजी। इस मौके पर मन्नतें मांगने के साथ फातेहा पढ़ी गई।

आपसी सौहार्द की मिसाल मिस्कीन शाह वारसी की दरगाह में पिछले तीन दिन से उर्स का आयोजन चल रहा था। दूर-दूर से अकीदतमंद दरगाह में जियारत करने पहुंचे। दरगाह में मेला लगा और अकीदतमंदों की भीड़ जुटी।

रात में दरगाह परिसर में खानकाही कव्वालियों की महफिल सजी। सुबह करीब सवा चार बजे हजरत वारिस अली शाह देवा शरीफ की कुल शरीफ विशेष फातेहा हुई। तगय्युर शाह वारसी के साथ अकीदतमंदों ने फातेहा पढ़ी और दुआ मांगी।

संवाद:- विनोद मिश्रा 

Digital Varta News Agency

Post Top Ad

loading...