गरीब नवाज के 809 वां वार्षिक उर्स की फातिहा अहतमाम सरताज आगरा पर - NUMBER ONE NEWS PORTAL

NUMBER ONE NEWS PORTAL

मेरा प्रयास, आप का विश्वास

Comments

गरीब नवाज के 809 वां वार्षिक उर्स की फातिहा अहतमाम सरताज आगरा पर

आगरा (डीवीएनए )। हर साल की तरह इस साल भी हजरत शाह सय्यदना अमीर अबुल उला साहब कि0 रह0 अलैह की दरगाह शरीफ पर हजरत ख्वाजा मुईन उददीन चिश्ती गरीब नवाज के 809 वाॅ वार्षिक उर्स बडे अदव व अहतराम के साथ बडे ही अजीमोशान तरीके से मनाया गया , जिसमें सांयकाल बाद नमाज मगरिब हैदराबाद बालो की कोठी में महफिले शमा हुआ बाद समां दरगाह शरीफ मे सन्दले शरीफ पेश किया गया व चादर पोशी की गयी एवम फातिहा ख्वानी के बाद कोठी पर लंगर किया गया, दरगाह शरीफ की बडी मस्जिद मे कुरान ख्वानी, फातिहा ख्वानी व कुल शरीफ की रस्म अदा की गयी इसके बाद दरगाह शरीफ के कदीमी समांखाना मे कदीमी सज्जादा नशीन हजरत शाह आगा मोहम्मद कासिम मियाॅ साहब किबला अबुल उलाई की जेरे सरपरस्ती व सदारत में महफिले समां का आगाज हुआ। जिसमें सूफीयाना कलाम पेश किये गये साथ मे हजरत के साहिवजादे नायब सज्जादा साहब हजरत शाह आगा मोहम्मद हसन मियाॅ सरकार किबला अबुल उलाई महफिले समां मे तशरीफ फरमा रहे बाद महफिल दरगाह शरीफ मे चादर पोशी, इत्र पोशी व गुल पोशी की गयी । फातिहा नज़र पेश की गयी दरगाह शरीफ मे हाजिर सभी पीर भाई अकीदतमन्दो व जाईरीनों व देशवासीयों के लिये सुख स्वास्थ और समृद्धि की दुआ की गयी बाद दुआ कोठी पर आम लोगो के लिये लंगर का अहतमाम किया गया ।
मैनेजमेन्ट कमेटी आगाई अबुल उलाई के से्रकेटरी हाजी अल्ताफ हुसैन ने उर्स शरीफ के उपलक्ष्य पर दुनिया भर के गरीब नवाज के अनुयायियों को बधाई एवं शुभकामनाऐ देते हुये कहा कि यह दरगाह शरीफ इत्तेहाद का मरकज है। यहाॅ से यकजेती का पैगाम आम होता है। कौमी एकता और भाई चारे की खूबसूरत मिसाल है। विभिन्न धर्माे सम्प्रदायों और उनसे जुडी मानवताओ और आस्थाओं का सोहार्दपूर्ण अस्तित्व विविधता से भरे हमारे देश की अदभुत धरोहर है। इस धरोहर को सहजने और मजबूत बनाने मे देश के विभिन्न साधू सन्तो, पीर व फखीरों का बहूमूल्य योगदान रहा है। शान्ती को समरसता के इनके शाश्रवत संदेश ने हमारी समाजिक सांस्कृतिक विरासत को सदैव समृद्ध किया है। अपने सूफी विचारों से समाज मे अमित छाप छोडने वाले ख्वाजा मुईन उददीन चिश्ती रह0 हमारी महान आध्यात्मिक परम्पराओं के आदर्श प्रतीक है प्रेम एकता , सेवा, और सोहार्द की भावना को बढावा देते हैं गरीब नवाज के मूल्य और विचार मानवता को हमेशा प्रेरणा देते रहेगे ।
उर्स शरीफ की तकरीबात के इन्तजामात में मुख्य रूप से सययद जमीर अली आगाई, मिर्जा फुरकान बेग आगाई, मुईन उददीन आगाई, हाजी अल्ताफ हुसैन आगाई, अब्दुल गफफार आगाई , जाहिद खान आगाई, अब्दुल कदीर आगाई, सईद उददीन आगाई, सैययद हुजुर अली आगाई , इस्लाम उददीन खान आगाई, मिर्जा रिजवान वेग आगाई, मों0 दाउद आगाई, मिर्जा शाहिद वेग आगाई आदि शामिल रहे।
उर्स शरीफ के सारे कार्यक्रमों में कोविड-19 के चलते शासन द्वारा गाइड-लाइन का भरपूर पालन किया गया।
संवाद , दानिश उमरी

Digital Varta News Agency

Post Top Ad

loading...