मुजफ्फरनगर में महापंचायत का ऐलान, उमड़ा किसानों का सैलाब - NUMBER ONE NEWS PORTAL

NUMBER ONE NEWS PORTAL

मेरा प्रयास, आप का विश्वास

Comments

मुजफ्फरनगर में महापंचायत का ऐलान, उमड़ा किसानों का सैलाब

मुजफ्फरनगर (डीवीएनए)। गाजीपुर बॉर्डर को किसानों से जबरदस्ती खाली करवाने की कोशिशों तथा राकेश टिकैत के भावुक होने की वीडियो वायरल होने के बाद जिले के किसानों का गुस्सा चरम पर है। किसान राजधानी सिसौली में देर रात फिर से पंचायत हुई, जिसमें आज दोपहर बजे राजकीय इंटर कॉलेज मुजफ्फरनगर के मैदान में महापंचायत का ऐलान कर दिया गया है। किसानों से महापंचायत में बडी संख्या में पहुंचाने का आह्वान किया गया है। इससे पहले भाकियू अध्यक्ष चौधरी नरेश टिकैत ने कल किसानों से सडकों पर टैंट गाडकर आंदोलन की राह पकडने की अपील की थी। रालोद के पूर्व विधायक राजपाल बालियान भी भारी संख्या में समर्थकों के साथ सिसौली में हुई पंचायत में शामिल हुए।
गाजीपुर बॉर्डर पर भाकियू के राष्ट्रीय प्रवक्ता चौधरी राकेश टिकैत के उग्र तेवर अपनाने और किसानों की खातिर जान दे देने की भावनात्मक घोषणा के बाद सिसौली महापंचायत में गाजीपुर बॉर्डर खाली करने का ऐलान करने वाले भाकियू के राष्ट्रीय अध्यक्ष चौधरी नरेश टिकैत ने भी अब उग्र तेवर दिखाये हैं। उन्होंने बयान जारी करते हुए किसानों से अपील की है कि सरकार की दमनकारी नीतियों के खिलाफ 29 जनवरी को किसान सड़कों पर उतरकर टैंट गाड़ दें। उन्होंने यूपी गेट के नजदीक गांवों के किसानों से रात्रि में ही गाजीपुर बॉर्डर पर पहुंचने की भी अपील की है। इससे टकराव की स्थिति बन गयी है।
बता दें कि सिसौली में किसान आंदोलन और गाजीपुर में पुलिस प्रशासन की सख्ती को लेकर भारतीय किसान यूनियन ने किसानों की महापंचायत बुलाई थी। इसमें जनपद मुजफ्फरनगर के साथ ही आसपास के जिलों से हजारों किसान पहुंचे थे। इस महापंचायत में पहले तो सरकार को चेतावनी दी गई कि यदि किसानों को छेड़ा गया तो बड़ा आंदोलन होगा, लेकिन बाद में भाकियू के राष्ट्रीय अध्यक्ष चौधरी नरेश टिकैत ने गाजीपुर बॉर्डर से किसानों को वापस बुलाने का ऐलान कर दिया था। जबकि उनके छोटे भाई और भाकियू के राष्ट्रीय प्रवक्ता चौधरी राकेश टिकैत ने गाजीपुर बॉर्डर पर किसानों के मंच से साफ ऐलान कर दिया था कि पुलिस चाहे तो गोलियां चला दें लेकिन यहां से धरना समाप्त नहीं होगा। दोनों भाईयों के विरोधाभासी बयान के बाद यूनियन के आला पदाधिकारी भी जुट गये थे। अभी अभी भाकियू के राष्ट्रीय अध्यक्ष नरेश टिकैत ने भी अपना रवैया बदल लिया है। उन्होंने भी उग्र तेवर दिखाते हुए सरकार पर किसानों को बदनाम करने, साजिश रचकर उनको गुण्डा दर्शाने के आरोप लगाये हैं।
भाकियू के मीडिया प्रभारी धर्मेन्द्र मलिक ने राष्ट्रीय अध्यक्ष चौधरी नरेश टिकैत की ओर से बयान जारी किया है। इसमें नरेश टिकैत की ओर से कहा गया है कि 29 जनवरी शुक्रवार को उत्तर प्रदेश में आंदोलन होगा। उन्होंने किसानों से सुबह से ही सड़कों पर उतरकर टैंट लगाकर बैठने की अपील करते हुए कहा कि अभी यूपी बॉर्डर के नजदीक के गांवों से किसान गाजीपुर बॉर्डर के धरने पर पहुंचे। उन्होंने कहा कि यह सरकार किसानों के मान सम्मान को मिट्टी में मिलाने का काम कर रही है। अब किसानों को जवाब देने के लिए तैयार हो जाना चाहिए।

संवाद आरिफ राणा

Digital Varta News Agency

Post Top Ad

loading...