स्वतंत्रता सेनानी पं. रामसिंगार धर द्विवेदी के आदर्शों को आत्मसात करने की आवश्यकता: सेराज कुरैशी - NUMBER ONE NEWS PORTAL

NUMBER ONE NEWS PORTAL

मेरा प्रयास, आप का विश्वास

Comments

स्वतंत्रता सेनानी पं. रामसिंगार धर द्विवेदी के आदर्शों को आत्मसात करने की आवश्यकता: सेराज कुरैशी

गोरखपुर (डीवीएनए)। स्वतंत्रता सेनानी पं. रामसिंगार धर द्विवेदी की तृतीय पुण्यतिथि पर स्मरणांजलि सभा हुई। गोष्ठी में व्यक्तित्व एवं कृतित्व पर चर्चा कर स्वतंत्रता आन्दोलन में उनकी भूमिका व समाज सेवी के रूप में किए कार्यों पर प्रकाश डाला गया। नई पीढ़ी को उनके आदर्शों से प्रेरणा लेने की आवश्यकता है।
पं. रामसिंगार धर द्विवेदी स्मृति विचार मंच के तत्वावधान में आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए इंडियन जर्नलिस्ट एसोसिएशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष सेराज अहमद कुरैशी ने कहा कि पं. रामसिंगार जी के कार्य सदैव याद किए जाएंगे। वे विनम्र, मृदुल स्वभाव के चलते सबके प्रिय थे। वक्ताओं ने कहा कि यदि हम उनके आदर्शों पर चले और योजना बनाकर वर्ष भर समाज उत्थान में क्रियाशील रहें, यही उनके प्रति सच्ची श्रद्धांजलि होगी। व्यक्ति कृति रुपी शरीर से विद्यमान रहता है यही अमरत्व की अवस्था है। आत्मा अमर और अविनाशी है।
इससे पूर्व कार्यक्रम पुष्प अर्चन व शांति पाठ हुआ। कार्यक्रम संयोजक अखिलेश्वर धर द्विवेदी ने मंच के कार्यों पर प्रकाश डाला। अंत में गीता श्लोक फिर शांति पाठ हुआ।
इस अवसर पर नरेन्द्र धर द्विवेदी एडवोकेट, ओंकार धर द्विवेदी, ज्योतिषाचार्य डाॅ. सुजीत जी महाराज, जगदीश धर द्विवेदी, देवेन्द्र धर द्विवेदी एडवोकेट, जितेंद्र धर द्विवेदी, पं. दया शंकर, हरि नंदन पाण्डेय एडवोकेट, सच्चिदानंद एडवोकेट, डाॅ. विजय मिश्र, इरफान खान, अखिलेश्वर धर द्विवेदी राष्ट्रीय संगठन सचिव इंडियन जर्नलिस्ट एसोसिएशन,आदि मौजूद रहे।

Digital Varta News Agency

Post Top Ad

loading...