बुन्देलखंड की बल्ले-बल्ले: गाड़ी बुला रही है, सीटी बजा रही है - माई यूपी न्यूज

माई यूपी न्यूज

मेरा प्रयास, आप का विश्वास

BREAKING

>

बुन्देलखंड की बल्ले-बल्ले: गाड़ी बुला रही है, सीटी बजा रही है

बांदा डीवीएनए। गाड़ी बुला रही है, सीटी बजा रही है जी हाँ, यह सीटी बजते ही बुन्देलखंड की बल्ले-बल्ले होगी। क्योकिं बरौनी अहमदाबाद एक्सप्रेस अब बुन्देलखण्ड के बाँदा- चित्रकूट महोबा से होकर गुजरेगी। अहमदाबाद से बरौनी के लिए रेलवे बरौनी एक्सप्रेस चलाने जा रहा है। जो एक मार्च को अहमदाबाद से चलकर बांदा, चित्रकूट धाम रेलवे स्टेशन होते हुए मानिकपुर, प्रयागराज, छिवकी, दीनदयाल उपाध्याय रेलवे स्टेशन से बिहार प्रदेश के बक्सर, आरा, हाजीपुर, मुज्जफरपुर, समस्तीपुर होते हुए बरौनी पहुंचेगी। यह ट्रेन प्रतिदिन चलेगी।
रेल मंत्रालय द्वारा जारी समय सारणी के मुताबिक अहमदाबाद से 1 मार्च को रात 12.25 पर ट्रेन शुरु होगी। जो शाम 5.50 पर भोपाल, रात 11.50 पर टीकमगढ़ , रात 12 बजकर 12 मिनट पर छतरपुर और रात 1.20 बजे खजुराहो पहुंचेगी। रात 2.40 पर ट्रेन महोबा पहुंचकर बांदा 3.45और मानिकपुर, प्रयागराज होते हुए मुजफ्फरपुर और फिर 6.40 पर बरौनी पहुंचेगी।
इसी तरह बरौनी से शाम 7.30 बजे चलकर मुजफ्फरपुर, प्रयागराज, मानिकपुर होते हुए बांदा रात 10.43 बजे और 11.43 पर महोबा, 12.53 पर खजुराहो, रात 3.41 पर टीकमगढ़ होते हुए रात 8.30 पर हबीबगंज भोपाल और अगले दिन 12.40 पर अहमदाबाद पहुंचेगी।
स्टेशन मास्टर बांदा कृष्ण कुशवाहा ने बताया कि रेल मंत्रालय ने वड़ोदरा, सूरत, भुसावल, हबीबगंज, ललितपुर जंक्शन, टीकमगढ़, खजुराहो, महोबा, चित्रकूट, बांदा, प्रयागराज होते हुए मुजफ्फरपुर बरौनी तक ट्रैन संख्या 09483 व 09484 अहमदाबाद-बरौनी एक्सप्रेस के संचालन की अनुमति प्रदान की है।
यह ट्रेन बुन्देलखण्ड के ललितपुर-खजुराहो रेल खंड के टीकमगढ़ व छतरपुर से गुजरात और बिहार के लिए पहली सीधी ट्रेन सेवा होगी। बांदा से गुजरात के सूरत शहर को पहली डायरेक्ट कनेक्टिविटी होगी।
अहमदाबाद से बरौनी एक्सप्रेस शुरु होने से छतरपुर से प्रदेश की राजधानी भोपाल के लिए महामना के बाद सीधी रेल सेवा का दूसरा विकल्प यात्रियों को मिलेगा।
यह गाड़ी खजुराहो से दोपहर में एक बजे चकलकर ,टीकमगढ़, छतरपुर के पर्यटकों को ललितपुर जंक्शन शाम 5 बजे लाकर नई दिल्ली की ओर जाने वाली 02001 शताब्दी एक्सप्रेस का भी मेल कराएगी।
अहमदाबाद के लिए सीधे ट्रेन चलने से बुंदेलखंड क्षेत्र के मजदूरों को फायदा होगा। क्षेत्र के लाखों मजदूर अहमदाबाद व सूरत शहर में काम करते हैं।
संवाद विनोद मिश्रा

Digital Varta News Agency

No comments:

Post a comment

Post Top Ad

loading...