सबसे अधिक कोविड टीकाकरण करने वाला प्रदेश है उत्तर प्रदेश - माई यूपी न्यूज

माई यूपी न्यूज

मेरा प्रयास, आप का विश्वास

BREAKING

>

सबसे अधिक कोविड टीकाकरण करने वाला प्रदेश है उत्तर प्रदेश

लखनऊ (डीवीएनए)। उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव सूचना नवनीत सहगल ने लोक भवन में प्रेस प्रतिनिधियों को सम्बोधित करते हुए बताया कि प्रदेश में कोरोना का संक्रमण कम हुआ है। मुख्यमंत्री के निर्देशों में प्रदेश सरकार के कोविड संक्रमण को नियंत्रित करने की कार्ययोजना कारगर सिद्ध हो रही है। प्रदेश में सर्विलांस का नया प्रयोग कर प्रत्येक परिवार तक पहंुच कर उनका हालचाल लेते हुए कोविड संक्रमण की जानकारी ली जा रही है। उन्होंने बताया कि अब तक 2.83 करोड़ से अधिक कोविड-19 के टेस्ट तथा 15.26 करोड़ से अधिक व्यक्तियों से सम्पर्क कर कोविड संक्रमण की जानकारी ली गयी है। सर्विलांस अभियान के अन्तर्गत उत्तर प्रदेश की 24 करोड़ जनसंख्या में से लगभग 18 करोड़ से अधिक लोगों तक सरकारी मशीनरी ने पहुंचकर हालचाल जाना गया है। टेस्ट की संख्या में कमी न करते हुए लगातार 01 लाख से ऊपर की जा रही है। देश में सबसे अधिक उत्तर प्रदेश में कोविड वैक्सीनेशन का टीकाकरण किया गया है।
श्री सहगल ने बताया कि संक्रमण कम होने से औद्योगिक गतिविधियां तेजी से सामान्य हो रही हैं। प्रदेश में 90 लाख से अधिक एमएसएमई कार्यरत है। प्रदेश में सूक्ष्म, लघु, मध्यम व वृहद श्रेणी की 8.18 लाख इकाइयाॅ क्रियाशील है, जिनमें 52 लाख श्रमिक कार्यरत हैं। प्रदेश में पुरानी इकाइयों को कार्यशील पूंजी की समस्या से निजात दिलाने के लिए बैंकों से समन्वय करके आत्मनिर्भर पैकेज में 4.38 लाख इकाइयों को रू0 11,944 करोड़ रूपये के ऋण बैंकों से समन्वय स्थापित कर स्वीेकृत करते हुए वितरित किये गये हैं। बैंकों से समन्वय करके प्रदेश में अभी तक 8.49 लाख नई एमएसएमई इकाइयों को लगभग 29,160 करोड़ रूपये बैंकों द्वारा ऋण वितरित किये गये हैं। इस प्रकार 13 लाख से अधिक एमएसएमई इकाइयों को बैंकों द्वारा लगभग 41,000 करोड़ रूपये का ऋण उपलब्ध कराया गया है। इन एमएसएमई इकाइयों के माध्यम से लगभग 27 लाख से अधिक लोगांे को रोजगार के अवसर उपलब्ध कराये गये हैं। प्रदेश सरकार के एमएसएमई विभिन्न बैंकों से समन्वय करके इस वर्तमान वित्तीय वर्ष का लगभग 61,000 करोड़ रूपये का लक्ष्य था जो कि पूरा कर लिया गया है। रोजगार को बढ़ाने के लिए प्रदेश में अधिक से अधिक लघु उद्योग स्थापित हों इसके लिए बैंकों से यह कहा गया है कि वह इस वर्तमान वित्तीय वर्ष में कम से कम 76 हजार करोड़ का ऋण वितरित करें जिसमें से 61 हजार करोड़ रूपये के ऋण वितरित किये जा चुके हैं। एक अभियान चलाकर इस वर्तमान माह में 15 हजार करोड़ रूपये से अधिक ऋण वितरित कराकर नई इकाइयों को स्थापित कराया जायेगा इससे युवाओं को अधिक से अधिक रोजगार के अवसर सृजित होंगे।
श्री सहगल ने बताया कि युवाओं के लिए मिशन रोजगार चलाया जा रहा है। प्रदेश सरकार युवाओं को सरकारी नौकरी, रोजगार, स्वरोजगार, कौशल प्रशिक्षण के माध्यम से रोजगार उपलब्ध कराने की मुहिम चला रही है। सरकारी नौकरियों में नियुक्तियों में तेजी लाई जा रही है। सरकार द्वारा 04 साल में 04 लाख सरकारी नौकरी देने का लक्ष्य पूरा हो रहा है।
श्री सहगल ने बताया कि प्रदेश सरकार द्वारा किसान कल्याण मिशन 825 विकास खण्डों में चलाये गये। किसान कल्याण मिशन के माध्यम से किसानों को उपज से लेकर, फसल के विक्रय तक, खेती के लिए उपकरण तथा अनुदान, सिंचाई, बीजों की उपलब्धता आदि विषयों पर चल रही केन्द्र एवं राज्य सरकार की योजनाओं से अवगत कराया गया। प्रदेश सरकार किसानों के हितों के लिए कृतसंकल्प है और किसानों से न्यूनतम समर्थन मूल्य पर उनकी फसल को खरीदे जाने की प्रक्रिया तेजी से चल रही है। जिसके क्रम में प्रदेश सरकार द्वारा अभी तक 640 लाख कु0 धान किसानों से खरीदा गया है, जो पिछले वर्ष से लगभग डेढ़ गुना अधिक है। लगभग 11,000 करोड़ रूपये का किसानों को भुगतान किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि 01 फरवरी से 03 फरवरी तक विशेष कैम्प चलाया गया। जिसमें प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के अन्तर्गत किसानों के विवरण में अन्तर हो जाने के कारण जो किसान इस योजना से वंचित हो गये थे। उनका विवरण दुरूस्त कर दिया गया है जिससे अब उन किसानों को भी प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना से लाभान्वित हो सकंेगे।
श्री सहगल ने बताया कि प्रदेश में चैरी-चैरा क्रांति के 100 वर्ष की शताब्दी वर्ष प्रारम्भ हुआ है। उसका आज एक बहुत बड़ा कार्यक्रम चैरी-चैरा मेें हुआ था। मा0 प्रधानमंत्री एवं मा0 मुख्यमंत्री जी द्वारा चैरी-चैरा के शताब्दी वर्ष के पूरे वर्ष चलने वाले कार्यक्रम का आज उद्घाटन किया गया। चैरी-चैरा की क्रांति में जो हमारे स्वतंत्रता संग्राम सेनानी शहीद हुए थे। उनके द्वारा नेतृत्व प्रदान किया गया था उसकी जानकारी युवाओं तक पहुंचाने के लिए यह एक अभियान चलाया जा रहा है। पूरे प्रदेश में प्रत्येक जनपद में शहीद स्मारक पर दीपदान और कार्यक्रम होंगे, पुलिस बैण्ड द्वारा सलामी दी जायेगी। ये सारे कार्यक्रम पूरे वर्ष भर चलेंगे। इसका एक कैलेण्डर भी जारी किया गया है।
अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य श्री अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में कल एक दिन में कुल 1,29,192 सैम्पल की जांच की गयी। प्रदेश में अब तक कुल 2,83,40,622 सैम्पल की जांच की गयी है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में पिछले 24 घंटे में कोरोना सेे संक्रमित 169 नये मामले आये हैं। प्रदेश में 4,629 कोरोना के एक्टिव मामलों में से 1284 लोग होम आइसोलेशन में हैं, अब तक कुल 3,52,830 लोग होम आइसोलेशन में थे जिसमें से 3,51,546 लोग होम आइसोलशन की अवधि पूर्ण कर लिये हैं। उन्होंने बताया कि निजी चिकित्सालयों में 403 लोग ईलाज करा रहे हैं। प्रदेश में ई-संजीवनी के माध्यम से 24 घंटे में 4,830 लोगों ने तथा अब तक कुल 4,75,879 लोगांे ने चिकित्सीय परामर्श लिया। उन्होंने बताया कि प्रदेश में विगत 24 घण्टों में 263 तथा अब तक कुल 5,87,661 लोग कोविड-19 से ठीक होकर डिस्चार्ज हो चुके हैं। प्रदेश में रिकवरी रेट 97.78 प्रतिशत है। प्रदेश में सर्विलांस टीम के माध्यम से 1,84,733 क्षेत्रों में 5,10,551 टीम दिवस के माध्यम से 3,14,26,232 घरों के 15,26,37,514 जनसंख्या का सर्वेक्षण किया गया है।
श्री प्रसाद ने बताया कि आज प्रदेश में 1580 से अधिक स्थानों पर 79,047 स्वास्थ्य कर्मियों का कोविड वैक्सीनेशन का टीकाकरण किया गया। 05 फरवरी को छूटे हुए स्वास्थ्य कर्मी का टीकाकरण किया जायेगा। 05 फरवरी को ही फ्रंट लाइन कर्मियों के भी कोविड वैक्सीनेशन का कार्य किया जायेगा। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश सबसे अधिक कोविड टीकाकरण करने वाला प्रदेश है। उन्होंने सभी नागरिकों से अपील की है कि कोविड-19 के प्रोटोकाल का पालन अवश्य करें।

Digital Varta News Agency

No comments:

Post a comment

Post Top Ad

loading...