सिविल सोसायटी ऑफ़ आगरा के प्रतिनिधि मंडल ने की एयरपोर्ट डायरेक्‍टर से मुलाकात - माई यूपी न्यूज

माई यूपी न्यूज

मेरा प्रयास, आप का विश्वास

BREAKING

>

सिविल सोसायटी ऑफ़ आगरा के प्रतिनिधि मंडल ने की एयरपोर्ट डायरेक्‍टर से मुलाकात

आगरा। (डीवीएनए)आगरा एयरपोर्ट के डायरेक्‍टर के ए. ए.अंसारी ने कहा है कि धनौली में निार्मणाधीन सिविल एन्‍केलव का काम तेजी के साथ पूरा हो उन्‍होंने कहा कि इसके लिये वह आगरा प्रशासन के अधिकारियों के अलावा  मुख्‍यमंत्री कार्यालय के सचिव सुरेंद्र सिह से भी निरंतर संपर्क में हैं।
उन्‍होंने बताया कि उ प्र शासन भी चाहता है कि यह प्रोजेक्‍ट शीघता के साथ पूरा हो। वह मंगलवार को सिविल सोसायटी ऑफ़ आगरा के प्रतिनिधि मंडल से सिविल एन्‍कलेव के वायुसेना परिसर से धनौली शिफ्टिंग और आगरा की एयरकनैक्‍टिविटी को बढाने के संबंध में चर्चा  कर रहे थे।
  एक जानकारी में उन्‍होंने बताया कि सिविल एन्‍कलेव के निर्माण के लिये जरूरी जमीन अधिग्रहित हो चुकी है ,अब चिन्‍हित जमीन में से जो अवशेष रह गयी है। उसके अधिग्रहण की प्रक्रिया भी शीघ्र पूरी होने की संभावना है।एक जानकारी में उन्‍होंने कहा कि जो जमीन अधिग्रहित की जा चुकी है। वह नये निर्माण का काम शुरू करने के लिये पर्याप्‍त है।
.सिविल एन्‍कलेव के धनौली में  निर्माण को अनुमति देने के लिये सुप्रीम कोर्ट में ताज ट्रिपेजियम जोन अथार्टी से मांगी गयी जानकारियों  के संबंध में एयरपोर्ट डारेक्टर  ने बताया कि एयरपोर्ट अथार्टी की ओर से अंतर मंत्रालय संपर्कों के माध्‍यम से रेलवे तथा अन्‍य मंत्रालयों से सर्वेक्षण आधारित नवीनतम अपेक्षित  जानकारियाँ मांगी गयी हैं।
इनमें मुख्‍य रुप से परिवहन सुविधाओं की आगरा की जरूरत के अनुसार स्‍थिति और भावी ज़रूरतों के सापेक्ष उनके विस्‍तार की योजनायें हैं।

 काल्‍पनिक मुद्दों को उठाया हुआ है न्‍यायालय में

सिविल सोसायटी ऑफ़ आगरा  के द्वारा जब यह कहा गया कि सुप्रीम कोर्ट के समक्ष वाद सुनवायी के दौरान उठाये गये कुछ मुद्दे केवल काल्‍पनिक संभावनाओं पर ही आधारित हैं और उनका विरोध कर वस्‍तुस्‍थिति को न तो ताज ट्रिपेजियम जोन प्राधिकरण की ओर से ही रखा जा सका है और नहीं एयरपोर्ट अथार्टी आफ इंडिया की ओर से ही।
 इस पर अंसारी ने कहा कि अगर सिविल सोसायटी ऑफ़ आगरा  सुप्रीम कोर्ट के समक्ष प्रस्‍तुत की जा सकने वाली जानकारियाँ एयरपोर्ट अथार्टी के संज्ञान में लायेगी तो वह उन्‍हे अग्रसरित कर देंगे।
एयरपोर्ट डायरेक्‍टर ने कहा कि उन्‍हे नहीं लगता कि सिविल एन्‍कलेव के निर्माण कार्य के शुरू होने में अब ज्‍यादा विलम्‍ब हो सकेगा। उ प्र शासन इस निर्माण को लेकर गंभीर है। जिला अधिकारी आगरा के द्वारा सिविल एन्‍कलेव के लिये चिन्‍हित जमीन संबधित लंबित रह गये कुछ मसलों के तेजी के साथ हल करवाये जाने का प्रयास करवाया जा रहा है।
 एयर कनेक्‍टिविटी में होने जा रही है बढोत्‍तरी
श्री अंसारी ने कहा कि आगरा की एयर कनैक्‍टिविटी को प्रभावी बनाये जाने का काम बहुत ही जल्‍दी शुरू हो जायेगा। एयर इंडिया गोवा-आगरा के बीच साप्‍ताहिक उडान शुरू करने जा रही है।
 इसी प्रकार प्राईवेट एयरलाइंस ‘इंडिगो’ भी अपनी पूर्व में की जा चुकी कई घोषणाओं के अनुसार नयी फ्लाइट  शुरू करेगी। इनमें से कुछ के लिये तो एयरलाइंस के द्वारा प्रचार शुरू भी किया जा चुका है।
उन्‍होंने कहा कि इंडिगो ने आगरा में अपना कार्यालय और जो अवस्‍थापना व्‍यवस्‍थाये यहां बनायी हैं, उससे यह अनुमान लगाया जा सकता है कि यह एयरलाइंस आगरा में अपने कारोबार को शुरू करने के साथ ही विस्‍तार दिये जाने तथा लगातार बनाये रखने को लेकर गंभीर है।

उन्‍होंने बताया कि कि ‘कोविड -19’ के कारण अन्‍य नागरिक परिवहन की सेवाओं के समान ही नागरिक उड्डयन सेवा भी प्रभावित रही है, बैंगलूर-आगरा की फ्लाइट शुरू करने की योजना भी इंडिगो को इसी कारण टालनी पडी है।लेकिन लगता है कि एयरलाइंस नयी शुरू कर रही अपनी फ.लाइटों में इसे भी शामिल करेगी।

 अर्जुन नगर गेट फिर खोलने की तैयारी
खेरिया एयरपोर्ट परिसर में स्‍थित सिविल एन्‍कलेव परिसर तक पहुंच को सहज बनाये जाने के लिये खेरिया एयरपोर्ट के अर्जुन नगर गेट को पुन: एन्‍कलेव तक पहुंच के लिये खोला जायेगा। इसके लिये वायुसेना , उ प्र पुलिस और एयरपोर्ट अथार्टी का संयुक्‍त सर्वे हो चुका है। 
सर्वे की रिपोर्ट आने के बाद आगे की कार्यवाही होगी। प्रस्‍तावित योजना के अनुसार अर्जुन नगर गेट पर एयरफोर्स पुलिस और सिविल पुलिस दोनो ही बल तैनात रहेंगे किन्‍तु इस गेट से प्रवेश करने वाले  नागरिकों व यात्रियों की जांच व पहचान सिविल पुलिस ही करेगी। 
गेट के अलावा भी सिविल पुलिस की मौजूदगी निगरानी के लिये अर्जुन नगर गेट से सिविल एन्‍कलेव तक रहेगी। पुलिस यात्रियों ही नहीं उनके वाहन और जरूरत होने पर सामान की जांच भी कर सकेगी।  

दो बसें भी प्रस्‍तावित

हवाई यात्रियों की सुविधा के लिये दो बसे भी गेट से सिविल एन्‍कलेव के मुख्‍य भवन के गेट तक आपरेट करवाये जाने की योजना है। इन बसों को आगरा विकास प्राधिकरण पथकर निधि से उपलब्‍ध करवायेगा किन्‍तु इनकी मेंटेनेंस और स्‍टाफ आदि पर खर्च का भार एयरपोर्ट अथार्टी को ही उठाना होगा।
 चूकि इस प्रकार की व्‍यवस्‍था की  भी सिविल एयरपोर्ट पर देश मे पहली बार हो रही है, इस लिये इसे केवल अथार्टी प्राधिकरण मुख्‍यालय से अनुमति मिलने पर ही क्रियान्‍वित करवाया जाना संभव होगा।
एयर कार्गो की सुविधा पर विमर्श को तैयार

 सिविल सोसायटी ऑफ़ आगरा  की ओर से एयरकार्गो सेवा का मुद्दा उठाया गया। जिस पर एयरपोर्ट डायरैक्‍टर का रुख सकारात्‍मक था। उन्‍होंने कहा कि अगर ट्रेडर और प्रोडैक्‍शन यूनिटे अपने पार्सल या सामान को वायु यान से भेजना चाहती है।
 तो इसमें कोई  दिक्‍कत नहीं है, जो एयरलाइंसे अपनी फ्लाइटें आगरा से शुरू करने जा रही हैं उनसे इस सम्‍बन्‍ध में विमर्श किया जा सकता है। लेकिन इसके लिये ट्रेडर और मैन्‍यूफैक्‍चर्रर्स को जरूरत से अवगत करवाने की पहल करनी होगा। जिससे जरूरी व्‍यवस्‍थायें संभव हो सकें।
सिविल सोसायटी ऑफ़ आगरा  देगी जानकारियाँसिविल सोसायटी ऑफ़ आगरा  के प्रतिनिधि मंडल में सर्व डा श्रोमणी सिह,  राजीव सक्‍सेना, और आनिल शर्मा शामिल थे।
मुलाकात के दौरान सिविल सोसायटी ऑफ़ आगरा  के प्रतिनिधियों ने कहा कि उसकी ओर से सुप्रीम कोर्ट में उठाये गये उन सभी मुद्दों पर वस्‍तुस्‍थिति एयरपोर्ट अथार्टी को प्रेषित कर दी जायेगी जो न केवल काल्‍पनिक हैं अपितु अप्रासंगिक भी। जिनके फलस्‍वरूप सिविल एन्‍केलव के निर्माण का काम लगातार प्रभावित हो रहा है।

 संवाद:- दानिश उमरी

Digital Varta News Agency

No comments:

Post a comment

Post Top Ad

loading...