आखिर कब तक बनेगा कोटवा लठूडीह मार्ग

गाजीपुर जनपद के मुहम्मदाबाद तहसील के करईल की यह जीवन रेखा समझी जानें वाली सडक है।यह सडक मुहम्मदाबाद विधानसभा क्षेत्र के दर्जनों गांव को कोटवां एवम लट्ठूडीह से जोडती है।लोग इस सडक से होकर रसडा और बक्सर समेत अन्य स्थानों के लिए आवागमन करते है।गोंडउर,महेन्द, नसीरासाद,सोनवानी, सरदरपुर,मसौनी,सियाडी,बसनिया, कनुवान, समेत दर्जनों गांव के लोगों के आने जाने के लिए यही एक प्रमुख मार्ग है।इसी सडक से लोग लट्ठूडीह, रसडा, मुहम्मदाबाद, गाजीपुर, बलिया, कोटवां, भांवरकोल ब्लाक मुख्यालय समेत बक्सर की यात्रा करते है।इसी सडक से विहार से सावन मास में अमवां सती स्थान पर जाने के लिए प्रतिदिन हजारों की संख्या में श्रद्धालु ट्रैक्टर एवं चार पहिया से आते जाते है।नवरात्र में कष्ट हरणी धाम दर्शन करने वाले भी श्रद्धालु इसी मार्ग से आते जाते है।पूरे सावन माह शिव भक्त घटेश्वर नाथ ,नागेश्वर नाथ, कामेश्वर धाम कारो दर्शन करने आते जाते है।इस सडक से यात्रा करने में दूरी कम हो जाती है।गत लोक सभा चुनाव के समय पूरी तरह से जर्जर इस सडक के गड्ढो को येन केन प्रकारेण भर कर इति श्री कर दी गयी थी।बाढ के दौरान मंडलायुक्त वाराणसी ने कनुवान में जहां सडक का बडा हिस्सा बाढ के पानी के दबाव में बह गया था।अपने निरिक्षण के दौरान उन्होंने बाढ में क्षतिग्रस्त सडक एवं पुलिया की मरम्मत अविलम्ब कराने के लिए तत्कालीन जिलाधिकारी संजय खत्री को दिशा निर्देश भी दिया था।हास्यास्पद बात है की ल़ोक सभा का कार्याकाल समापन की तरफ अग्रसर है।2019 में लोक सभा का चुनांव होगा लेकिन पांच साल के अंदर लाखों लोगों के आवागमन में सहायक करईल की लाइफ लाइन मानी जाने वाली लट्ठूडीह कोटवां नरायन पुर मार्ग पर विकास के नाम पर एक कंकड़ भी नहीं पडा है।इसी सडक पर पूर्व विधायक स्व कृष्णा नन्द राय एवम वर्तमान विधायक मुहम्मदाबाद अलका राय का गांव गोंडउर भी स्थित है।गर्मी के मौसम में लोग सडक के गड्ढे से बचने के लिए सडक के नीचे खेत में उतर कर आया जाया करते थे।अब बरसात का मौसम शुरू हो गया है।जिससे वह भी रास्ता बंद हो जायेगा।शायद यहां के लोगों के नसीब में गड्ढे युक्त रास्ते से ही सफर करना लिखा हो।

No comments